प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

 

 

 

इस योजना की शुरुवात 8 अप्रैल 2015 को हुई थी, जिसका मुख्य उद्देश्य युवाओं में कारोबार और रोज़गार की भावना विकसित करना है. इस योजना के माध्यम से आर्थिक कमी से जूझ रहें लघु उद्योगों, व्यवसायी और नया व्यवसाय शुरू करने के इच्छुक युवाओं को सस्ते ब्याज दर में लोन मुहया कराने का लक्ष्य रखा गया है. सरकार ने मुद्रा योजना के तहत तीन तरह के लोन उपलब्ध करवाने शुरू किये है जो कि इस प्रकार है

  1. शिशु मुद्रा लोन – शिशु मुद्रा लोन के तहत सरकार छोटे युवा उद्यमियों को अपना व्यापार शुरू करने के लिए अधिकतम 50 हजार रूपये तक का लोन उपलब्ध करवाती है ये लोन सिर्फ व्यापार शुरू करने के लिए दिया जाता है
  2. किशोर मुद्रा लोन – किशोर मुद्रा लोन के तहत सरकार शुरू हो चुके व्यापार को आगे बढाने के लिए 60 हजार रूपये से लेकर के 5 लाख रूपये तक का लोन उपलब्ध करवाती है ये लोन व्यापार को आगे बढाने के लिए दिया जाता है
  3. तरुण मुद्रा लोन- ये इस स्कीम के तहत दी जाने वाली सबसे बड़ी सबसे बड़ी राशि है इसे बैंक या फिर संस्था द्वारा तय किया जाता है कि कम्पनी लोन लेने के लिए लायक है भी या फिर नही तरुण मुद्रा लोन के तहत 5 लाख से 10 लाख रूपये तक के लोन की राशि स्वीकृत की जाती है

योजना के लिए पात्रता

इस योजना के तहत हर व्यवसायी अपने उद्योग के सही दस्तावेज दिखाकर मुद्रा बैंक से लोन ले सकता है.

योजना के लाभ

  1. इससे देश का पैसा देश में ही रहेगा जिससे देश का आर्थिक विकास होगा.
  2. इस योजना से युवाओं को रोजगार मिलेगा और उनका हुनर भी निखरेगा.
  3. नयी गतिविधियों का संचार होगा.
  4. छोटे व्यापारीयों का आत्मविश्वास बढ़ेगा.
  5. इस योजना से गरीब का भी विकास होगा जिससे देश का भी विकास होगा.

इस योजना के लिए आवेदन कैसे करे-

आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में आवेदन करने के लिए मुद्रा लोन देने के लिए किसी भी प्राइवेट या सरकारी बैंक में आवेदन कर सकते है, एस बी आई, आई सी आई सी आई, बैंक ऑफ बरोडा, बैंक ऑफ इंडिया के अलावा 20 कई छोटे मोटे बैंक भी है जहाँ से आप ये लोन प्राप्त कर सकते है लेकिन मुख्य तौर पर ये काम एस बी आई ही कर सकता है

अधिक जानकारी के लिए आप टोल फ्री नंबर  : 18002334358 पर कॉल कर सकते है.

Share This