ज्ञानपथ

 

 

 

कई बार पालक अपने बच्चों पर परीक्षा में बेहतर परिणाम लाने के लिए इतना दबाव बनाते हैं कि वो अपनी स्वाभाविक प्रतिभा और रुचि से हटकर अपने पालकों की इच्छानुसारमेहनत करते हैं. इससे न सिर्फ उनकी नैसर्गिक प्रतिभा का नुकसान होता है बल्कि उनका करियर भी बेहतर नहीं रहता. इसके अलावा कुछ बच्चे जो पढ़ाई में भी बेहतर हैं तथा अपनी रुचिअनुसार आगे बढ़ना चाहते हैं, लेकिन जानकारी के अभाव में वो कई बार अपने हाथों से जीवन के कई अवसर खो देते हैं. इन्हीं समस्याओं का हल तलाशते हुए एक बेहतर करियर बनाने के लिएज्ञानपथ जैसे करियर मार्गदर्शन कार्यक्रम की कल्पना की गई तथा इसकी रूप-रेखा तैयार की गई.

विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य के सपनों को सच करने में ज्ञानपथ कार्यक्रम ने एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा की. इस कार्यक्रम की खास बात यह रही की जिले भर के दूर-दराज इलाके के 45स्कूलों से करीब 3000 छात्र – छात्राएं पहुंचे और साथ ही कई शिक्षक और पालकगण भी उपस्थित रहे. उपस्थित विद्यार्थियों की करियर काउंसलिंग कर उन्हें विषय का चुनाव और लक्ष्यनिर्धारण जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर मार्गदर्शन दिया गया.

Share This